सरकार बनते ही फाड़ के फेंक देंगे तीनों काले कानून- राहुल गांधी

कृषि कानूनों के खिलाफ पंजाब में कांग्रेस की किसान बचाओ यात्रा के दौरान राहुल गांधी ने केंद्र सरकार पर जबरदस्त हमला बोला। इसके साथ ही राहुल गांधी ने ऐलान किया कि केंद्र में कांग्रेस की सरकार बनते ही तीनों काले कानूनों को रद्द कर दिया जाएगा।

केंद्र के कृषि कानूनों के खिलाफ पारित विधेयकों पर क्या कहते हैं किसान नेता

पंजाब की विधानसभा ने मंगलवार को केंद्र के कृषि कानूनों को राज्य में प्रभावहीन करने वाले तीन कृषि विधेयक को सर्वसम्मति से...

केंद्र के कृषि कानूनों के खिलाफ अमरिंदर सरकार के विधेयक पारित

केंद्र के कृषि कानूनों के खिलाफ पंजाब विधानसभा में 4 विधेयक पारित हो गए हैं। विधेयक पेश करते हुए सीएम अमरिंदर सिंह...

केंद्र के कानूनों के खिलाफ पंजाब में विधेयक पारित, सीएम अमरिंदर ने कहा- किसान हित में इस्तीफा देना भी मंजूर

केंद्र के कृषि कानूनों खिलाफ पंजाब की अमरिंदर सरकार ने एक बड़ा कदम उठाया है। मंगलवार को वह पंजाब विधानसभा से खेती...

महाराष्ट्र से पंजाब तक कपास की एमएसपी को तरसे किसान

केंद्र सरकार हर मौके पर कृषि कानूनों से किसानों को फायदे होने के दावे कर रही है। उसका यह भी कहना है...

कृषि क़ानून: कैसा रहा पंजाब विधान सभा का विशेष सत्र

कृषि कानूनों के खिलाफ पंजाब विधान सभा में विशेष सत्र के पहले दिन क्या- क्या हुआ? हरियाणा में किसान संगठनों ने खट्टर...

खेती से जुड़े कानूनों के खिलाफ पंजाब में कांग्रेस ‘खेती बचाओ यात्रा’ कर रही है, जगह-जगह ट्रैक्टर मार्च भी निकाला जा रहा है। ‘खेती बचाओ यात्रा’ में शामिल कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी केंद्र की नरेंद्र मोदी सरकार पर तीखा हमला बोल रहे हैं। उन्होंने केंद्र सरकार पर एमएसपी को खत्म करने, उद्योगपतियों की मदद करने का आरोप लगाते हुए बड़ा ऐलान किया। उन्होंने कहा कि कांग्रेस की सरकार बनते ही खेती से जुड़े तीनों कानूनों को रद्द कर दिया जाएगा।

रविवार को मोगा में किसानों को संबोधित करते हुए राहुल गांधी ने कहा कि ‘मैं गारंटी दे रहा हूं कि जिस दिन कांग्रेस पार्टी की सरकार आएगी, उस दिन हम इन तीन काले कानूनों को खत्म करके, रद्द करके फेंक देंगे।’

उन्होंने कहा कि ‘पंजाब का किसान, हरियाणा का किसान, पूरे हिंदुस्तान का किसान एक इंच पीछे नहीं हटेगा। हम नरेंद्र मोदी की सरकार के खिलाफ, इन कानूनों के खिलाफ लड़ेंगे और इन लोगों को हरा कर दिखाएंगे।’

राहुल गांधी ने कहा कि मंडी व्यवस्था में मौजूद कमियों को दूर करने की जरूरत है, ना कि उसे खत्म करने की। उन्होंने कहा कि, ‘मैं यह नहीं कह रहा हूं कि इस सिस्टम में कमी नहीं है, जरूर इसमें कमी है। इसको दूर करने की जरूरत है लेकिन इसको खत्म करने की जरूरत नहीं है। क्योंकि इस सिस्टम को खत्म कर दिया तो किसानों की रक्षा के लिए कुछ नहीं बचेगा। किसान को सीधा अंबानी और अडानी से बात करनी पड़ेगी जिसमें किसान मारा जाएगा।’

केंद्र सरकार की तुलना अंग्रेजों से करते हुए राहुल गांधी ने कहा कि जिस तरह अंग्रेजो ने हिंदुस्तान के किसान को खत्म किया था। उनकी रीढ़ की हड्डी तोड़ कर हिंदुस्तान पर राज किया था, वही लक्ष्य पीएम नरेंद्र मोदी का है।

जनसभा को संबोधित करते हुए राहुल गांधी ने कहा, ‘पंजाब और हरियाणा के किसानों ने देश को खाद्य सुरक्षा दी। तब सरकार ने एक ढांचा बनाया था जिसके तीन खंभे थे पहला एमएसपी, दूसरा सरकारी खरीद और तीसरा मंडी। सरकार इस सिस्टम को खत्म करना चाहती हैं क्योंकि जब तक ये सिस्टम रहेगा तब तक अंबानी और अडानी जैसे उनके मित्र किसानों की जमीन और पैसा नहीं छीन पाएंगे।

केंद्र सरकार पर न्यूनतम समर्थन मूल्य यानी एमएसपी को खत्म करने का आरोप लगाते हुए राहुल गांधी ने कहा, ‘केंद्र सरकार का लक्ष्य एमएसपी और पीडीएस सिस्टम को खत्म करने का है। एमएसपी खत्म हुई तो देश का किसान खत्म हो जाएगा। उन्होंने कहा कि कांग्रेस पार्टी किसानों को खत्म नहीं होने देगी, कांग्रेस पार्टी किसानों के साथ खड़ी है।’

पंजाब के मुख्यमंत्री अमरिंदर सिंह, कांग्रेस महासचिव और पंजाब मामलों के प्रभारी हरीश रावत, पंजाब कांग्रेस अध्यक्ष सुनील जाखड़, राज्य के वित्तमंत्री मनप्रीत सिंह बादल और नवजोत सिंह सिद्धू जैसे कई नेता भी रैली में शामिल रहे। सोमवार को राहुल गांधी संगरूर और पटियाला में जनसभा करेंगे तो वहीं भवानीगढ़ से सामना तक ट्रैक्टर यात्रा कर केंद्र सरकार के कानूनों का विरोध करेंगे।

पंजाब और हरियाणा में लंबे वक्त से किसान खेती से जुड़े कानूनों के खिलाफ प्रदर्शन कर रहे हैं। वहीं पंजाब के कई इलाकों में किसान संगठन रैल रोको आंदोलन कर रहे हैं। वहीं दूसरी तरफ केंद्र सरकार लगातार इन कानूनों से किसानों को फायदा मिलने के दावे कर रही है।

लोकप्रिय

कृषि विधेयकों के खिलाफ किसान आंदोलनों के बीच फसलों की एमएसपी में इजाफा

कृषि से जुड़े विधेयकों को लेकर किसान लगातार आंदोलन कर रहे हैं. विपक्ष संसद से पारित हो चुके इन विधेयकों को किसान...

कृषि कानूनों के खिलाफ 25 सितंबर को भारत बंद 

कृषि से जुड़े तीनों विधेयक भले ही संसद से पारित हो गए हों लेकिन किसानों ने इनके खिलाफ आंदोलनों को और तेज...

क्या एमएसपी के ताबूत में आखिरी कील साबित होंगे नए कृषि विधेयक

कोरोना संकट और लॉकडाउन के बीच मोदी सरकार ने जिस अफरा-तफरी में तीनों कृषि अध्यादेशों लाई, इन्हें विधेयक के रूप में संसद...

Related Articles

केंद्र के कृषि कानूनों के खिलाफ पारित विधेयकों पर क्या कहते हैं किसान नेता

पंजाब की विधानसभा ने मंगलवार को केंद्र के कृषि कानूनों को राज्य में प्रभावहीन करने वाले तीन कृषि विधेयक को सर्वसम्मति से...

केंद्र के कृषि कानूनों के खिलाफ अमरिंदर सरकार के विधेयक पारित

केंद्र के कृषि कानूनों के खिलाफ पंजाब विधानसभा में 4 विधेयक पारित हो गए हैं। विधेयक पेश करते हुए सीएम अमरिंदर सिंह...

केंद्र के कानूनों के खिलाफ पंजाब में विधेयक पारित, सीएम अमरिंदर ने कहा- किसान हित में इस्तीफा देना भी मंजूर

केंद्र के कृषि कानूनों खिलाफ पंजाब की अमरिंदर सरकार ने एक बड़ा कदम उठाया है। मंगलवार को वह पंजाब विधानसभा से खेती...