देखिए #HindKisan की ख़ास बातचीत, Uttarakhand के सामाजिक कार्यकर्ता और फार्म ऐक्टिविस्ट #JPMaithani से जो कि उत्तराखंड के चमोली – देहरादून इलाक़े में बाग़वानी, किसानी के मुद्दों पर पिछले २३-२४ साल से काम कर रहे हैं।
ये #AAGAASFederation के Founder- Chairperson हैं, इनकी नज़र में #उत्तराखंड_मिशन’ में क्या मुद्दे शामिल होने चाहिए ताकि किसान मुनाफ़े की खेती कर सकें और अपनी उपज और मेहनत का सही भाव ले सकें। MSP का मुद्दा क्यूँ अहम है, कृषि मंडियाँ क्यूँ ज़रूरी है और ठेका खेती क़ानून से पहाड़ी इलाक़ों के किसानों को क्या ख़तरा है? समझिए।