कृषि विधेयकों के खिलाफ सड़कों पर उतरी कांग्रेस

संसद से पारित कृषि विधेयकों के खिलाफ उत्तराखंड से लेकर पंजाब तक कांग्रेस ने प्रदर्शन किया

Must Read

गाँव में कोरोना से लड़ने की क्या हो तैयारी?

MP के हरदा ज़िले के रोल गाँव में क़रीब 30 लोगों की कोरोना से मृत्यु हो गयी,...

क्या है ज़रूरी – ज़िंदगी या चुनाव?

29 April 2021, कोरोना की ख़तरनाक जानलेवा लहर के बीच उत्तर प्रदेश पंचायत चुनाव के लिए आख़री...

ज़िंदगी या चुनाव- क्या है ज़रूरी?

कोरोना की मौजूदा लहर में हर दिन जिंदगियाँ रेत की तरह फिसल रही हैं, समाज में लोग...

कृषि विधेयकों के खिलाफ 25 सिंतबर को देश भर के किसान और किसान संगठनों ने भारत बंद बुलाया है. इस बीच विपक्षी दलों ने आंदोलन शुरू कर दिया है. संसद में 18 विपक्षी दलों ने संसद के मानसून सत्र की बाकी कार्यवाही का बहिष्कार किया है. वहीं, उत्तराखंड में कांग्रेस ने केंद्र के विधेयकों का विरोध किया है. एक दिन के विधानसभा सत्र के दौरान कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष और विधायक प्रीतम सिंह ट्रैक्टर पर विधानसभा के लिए निकले. उनके साथ मनोज रावत, काजी निजामुद्दीन और आदेश चौहान था. उनके ट्रैक्टर पर लगे बैनर पर लिखा था- ‘किसान विरोधी काला कानून वापस लो’. हालांकि, पुलिस ने उन्हें विधानसभा पहुंचने से पहले ही रोक लिया. इसके बाद विधायकों ने वहीं पर एक दिन का धरना शुरू कर दिया.

कांग्रेस के अलावा कृषि अध्यादेश के विरोध में आम आदमी पार्टी के कार्यकर्ताओं ने भी विधानसभा जाने की कोशिश की. लेकिन पुलिस ने उन्हें भी आगे नहीं जाने दिया. इस दौरान पुलिस और आम आदमी पार्टी के कार्यकर्ताओं के बीच तीखी नोकझोक हुई.

उत्तराखंड ही नहीं, पंजाब और हरियाणा में भी कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने जबरदस्त आंदोलन किया. अमृतसर में कृषि विधेयकों के खिलाफ प्रदर्शन में कांग्रेस नेता नवजोत सिंह सिद्धू भी शामिल हुए. लुधियाना में भी कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने बड़े पैमाने पर प्रदर्शन किया. यहां पर भी कार्यकर्ताओं ने ट्रैक्टर रैली निकाली.

- Advertisement -

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisement -

Latest News

गाँव में कोरोना से लड़ने की क्या हो तैयारी?

MP के हरदा ज़िले के रोल गाँव में क़रीब 30 लोगों की कोरोना से मृत्यु हो गयी,...

क्या है ज़रूरी – ज़िंदगी या चुनाव?

29 April 2021, कोरोना की ख़तरनाक जानलेवा लहर के बीच उत्तर प्रदेश पंचायत चुनाव के लिए आख़री चरण का मतदान पूरा हुआ,...

ज़िंदगी या चुनाव- क्या है ज़रूरी?

कोरोना की मौजूदा लहर में हर दिन जिंदगियाँ रेत की तरह फिसल रही हैं, समाज में लोग अपनों को खो रहे हैं...

किसान क्यूँ कर रहे हैं साइलोज़ का बहिष्कार?

हरियाणा हो या पंजाब, किसान अडानी के Silos में अपनी फसल देने से इंकार कर रहे हैं, हालाँकि Adani Agro Logistics का...

हरियाणा में फसल ख़रीदी को लेकर किसानों के अनुभव

हरियाणा में 1 April 2021 से गेहूँ की ख़रीदी शुरू हो गयी है लेकिन किसान मंडी में बारदाने की कमी से लेकर...
- Advertisement -

More Articles Like This

- Advertisement -