यूपी, एमपी के उपचुनाव में बीजेपी को मिली जीत, बेअसर नजर आए किसानों के मुद्दे

हरियाणा उपचुनाव में बीजेपी को हार का सामना करना पड़ा लेकिन उत्तर प्रदेश और मध्य प्रदेश में उसके लिए कोई खतरा नहीं बन सका।

पाम ऑयल मिशन को लेकर नॉर्थ-ईस्ट में उपजी आशंकाएं

“हमसे कोई सलाह-मशविरा नहीं लिया गया। नॉर्थ ईस्ट में पाम ऑयल मिशन ठीक नहीं है क्योंकि मेघालय में हम आदिवासियों का जीवन...

Palm Oil की खेती से क्या हैं नुक़सान?

National Mission on Edible oils- Oil Palm को सरकार ने 18 August 2021 को हरी झंडी दिखाई, खाने के तेल,Palm oil को...

MSP का खेल निराला, क्या है कुछ काला?

सरकार ने किसान आंदोलन के बीच रबी मार्केटिंग सीज़न 2022-23 के लिए फसलों की MSP का एलान किया है, सरकार फसलों के...

Karnal: किसानों ने सचिवालय पर डाला डेरा, सुनेगी सरकार?

मुज़फ़्फ़रनगर 5 September और फिर 7 September को हफ़्ते में दूसरी बड़ी किसान महापंचायत, किसानों ने अपनी माँग को पुरज़ोर तरीक़े से...

UP – Muzaffarnagar किसानों की हुंकार से होगा बदलाव?

5 September,2021, UP के मुज़फ़्फ़रनगर में किसानों की महापंचायत किन किन मायनो में अहम रही? ये किसानों का खुद का शक्ति परीक्षण...

एक तरफ हरियाणा में जहां बीजेपी को किसानों की नाराजगी का सामना बरोदा सीट पर उपचुनाव में हार से करना पड़ा। वहीं, मध्य प्रदेश के उपचुनाव में किसानों की नाराजगी के बावजूद बीजेपी को जीत मिली। मध्य प्रदेश की 28 सीटों पर हुए उपचुनाव में बीजेपी को 12 सीटों और जबकि कांग्रेस को तीन सीट पर जीत मिली है। चुनाव आयोग के रुझानों के मुताबिक बीजेपी सात जबकि कांग्रेस छह सीटों पर बढ़त बनाए हुए हैं।

मध्य प्रदेश में मक्का, सोयाबीन की एमएसपी पर खरीद न होने और सोयाबीन की फसल नुकसान का मुआवजा न मिलने की वजह से किसान शिवराज सरकार से नाराज नजर आ रहे थे। कयास लगाया जा रहा था कि किसानों की नारजगी का खामियाजा बीजेपी को उपचुनावों में उठाना पड़ सकता है। हालांकि, तमाम अटकलों के बीच बीजेपी को जीत मिली है।   

इस मौके पर ट्वीट करते हुए मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा ‘यह जीत है विकास की! यह जीत है विश्वास की! यह जीत है सामाजिक न्याय की! यह जीत है लोकतंत्र की! यह जीत है मध्यप्रदेश की जनता की! जनता ने @BJP4MP को अपना आशीर्वाद और स्नेह दिया, हम पर विश्वास जताया, मैं प्रण लेता हूँ कि राज्य के कल्याण में कोई भी कमी नहीं आने दूंगा!’

वहीं, पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ ने कहा कि ‘हम जनादेश को स्वीकार करते हैं। उन्होंने ट्विटर पर लिखा कि ‘हम जनादेश को शिरोधार्य करते हैं। हमने जनता तक अपनी बात पहुंचाने का पूरा प्रयास किया। मैं उपचुनाव वाले क्षेत्रों के सभी मतदाताओं का भी आभार मानता हूँ। उम्मीद करता हूँ कि भाजपा की सरकार किसानों के हितों का ध्यान रखेगी, युवाओं को रोजगार देगी, महिलाओं का सम्मान व सुरक्षा कायम रखेगी।’

उत्तर प्रदेश में सात सीटों पर हुए उपचुनाव के नतीजे बीजेपी के पक्ष में रहे। यहां 7 में से 6 सीटें बीजेपी के खाते में गई जबकि एक सीट पर सपा ने जीत दर्ज की। प्रदेश की 6 सीटों  टूंडला, बांगरमऊ, देवारिया, नौगावां सादात, घाटमपुर और बुलंदशहर में बीजेपी जीतने में कामयाब रही वहीं मल्हनी विधानसभा सीट पर सपा के लकी यादव ने जीत दर्ज की।

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने सबको बधाई दी और इस जीत का श्रेय कोराना के दौरान अपनी सरकार के काम को दिया।

हालांकि, पंजाब हरियाणा की तरह उत्तर प्रदेश और मध्य प्रदेश में भी किसान लगातार कृषि कानूनों के खिलाफ आंदोलन कर रहे हैं। हरियाणा उपचुनाव की तरह इन दोनों राज्यों के उपचुनाव में भी उलटफेर की उम्मीद थी लेकिन किसानों की नाराजगी का असर यहां नजर नहीं आया।

लोकप्रिय

कृषि विधेयकों के खिलाफ किसान आंदोलनों के बीच फसलों की एमएसपी में इजाफा

कृषि से जुड़े विधेयकों को लेकर किसान लगातार आंदोलन कर रहे हैं. विपक्ष संसद से पारित हो चुके इन विधेयकों को किसान...

कृषि कानूनों के खिलाफ 25 सितंबर को भारत बंद 

कृषि से जुड़े तीनों विधेयक भले ही संसद से पारित हो गए हों लेकिन किसानों ने इनके खिलाफ आंदोलनों को और तेज...

क्या एमएसपी के ताबूत में आखिरी कील साबित होंगे नए कृषि विधेयक

कोरोना संकट और लॉकडाउन के बीच मोदी सरकार ने जिस अफरा-तफरी में तीनों कृषि अध्यादेशों लाई, इन्हें विधेयक के रूप में संसद...

Related Articles

पाम ऑयल मिशन को लेकर नॉर्थ-ईस्ट में उपजी आशंकाएं

“हमसे कोई सलाह-मशविरा नहीं लिया गया। नॉर्थ ईस्ट में पाम ऑयल मिशन ठीक नहीं है क्योंकि मेघालय में हम आदिवासियों का जीवन...

Palm Oil की खेती से क्या हैं नुक़सान?

National Mission on Edible oils- Oil Palm को सरकार ने 18 August 2021 को हरी झंडी दिखाई, खाने के तेल,Palm oil को...

MSP का खेल निराला, क्या है कुछ काला?

सरकार ने किसान आंदोलन के बीच रबी मार्केटिंग सीज़न 2022-23 के लिए फसलों की MSP का एलान किया है, सरकार फसलों के...