हिमाचल प्रदेश के सेब किसानों को अडानी ग्रूप ने ज़ोरदार झटका दिया है, Adani Agri Fresh ने 26 August – 29 August तक किसानों से ख़रीदे जाने वाले सेब के दाम खोल दिए हैं और भाव 16 Rs/kilo तक घटा दिए हैं, ऐसे में दूसरी निजी कम्पनी के भाव पर भी असर पड़ना लाज़मी है, हालाँकि कम्पनी का दावा है कि बाज़ार में देख पड़ताल करने के बाद ही रेट्स खोले है, किसानों से फ़ीड्बैक भी लिया है लेकिन सेब उत्पादक सही भाव ना मिलने, लागत बढ़ने के बीच विदेशी सेब से होने वाले मुक़ाबले को लेकर भी परेशान है।
सेब उत्पादकों की माँग है की कश्मीर की तर्ज़ पर उनके सेब को भी NAFED जैसी एजेन्सी ख़रीदे और MIS – मंडी इंटर्वेन्शन स्कीम के तहत किसानों के सेब की ख़रीदी हो ताकि निजी कम्पनी अपने मनमाने भाव लाने से बचे, इन सभी मुद्दों पर सेब बागवानो के पक्ष को समझने के लिए सुनिए ‘Hind Kisan’ की ये ख़ास बातचीत, Ramesh Chauhan से जो कि Himachal Pradesh – Fruits, Vegetables and Flowers Association के President हैं।