किसान महापंचायत की गूंज दक्षिण भारत के राज्य कर्नाटक में भी सुनाई दी, BKU के राष्ट्रीय प्रवक्ता राकेश टिकैत समेत दूसरे किसान नेता कर्नाटक के किसानों को 20, 21 और 22 March को सम्बोधित करने पहुँचे, वहाँ क्या समा था, कर्नाटक में लोगों ने हिंदी भाषा की सीमा को लांघ कर टिकैत के हिंदी भाषा के पीछे छिपे भावों को पढ़ा या नहीं?
क्या देश भर के किसानों के मुद्दे एक ही हैं और उन्हें लेकर वो कितना एकजुट हैं? बैंगलुरु की क्लाइमट ऐक्टिविस्ट दिशा रवि ने किसानों के समर्थन में जो स्टैंड लिया, उस पर कोर्ट से रिहाई के बाद अब लोगों की क्या राय है, इन तमाम मुद्दों पर हिंद किसान ने की बेबाक़ बातचीत – KRRS कर्नाटक राज्य रायत संघ की किसान नेता, Chukki Rajnundaswamy से, सुनिए ये ख़ास बातचीत ।