कृषि नीति एक्स्पर्ट #DevinderSharma​ से ख़ास बातचीत, ज़रूर सुनें और समझ बनाएँ। ‘अन्नदाता का इमोशनल कार्ड मत खेलिए’ किसान फसल उगाता है उसे बेचता है, कमाई करता है। ‘पंजाब के किसानों को देखिए सब अमीर हैं, बड़े बड़े घरों से हैं, बड़ी गाड़ियों में घूमते हैं’ उन मिडल्मेन की कमाई पर असर पड़ेगा इसलिए किसान आंदोलन खड़ा कर दिया है, आंदोलन में ड्राई फ़्रूट्स बँट रहे हैं!’ क्या शहरों में रहने वाले लोग किसान आंदोलन से ऊब गए हैं? क्या उन्हें किसानों की माँगें समझ में आयी हैं? कैसे किसान अन्नदाता बन गए और क्यूँ? ये सब कुछ, इस बातचीत में जो शहरी लोगों को ज़रूर सुनना चाहिए।