"> Challenge to stop inflation

Drought

महंगाई रोकने की चुनौती

सरकार ने महंगाई बढ़ने के खतरे को देखते हुए राज्यों से अरहर और प्याज की जरूरतें बताने को कहा है. मॉनसून में देरी और सूखे के बाद कई राज्यों में सामान्य से कम बारिश के चलते दाल के साथ साथ खरीफ की फसलों का रकबा घटा है.

Read more


आधे हिस्से में सूखा, आधे में बाढ़!

अभी मौसम का मिजाज हैरान करने वाला है. एक तरफ सूखे की समस्या है, लोगों तक ट्रेन से पानी पहुंचाने की नौबत है तो वहीं दूसरी तरफ एक बड़े हिस्से में बारिश के कारण सैलाब के हालात बने हुए हैं.

Read more


खरीफ की फसलों का रकबा घटा

सूखे और मॉनसून में देरी का खरीफ की फसलों की बुआई पर बुरा असर पड़ा है. इसके चलते खरीफ फसलों की बुआई का रकबा बीते साल की तुलना में 27 फीसदी कम रहा है.

Read more


कहीं बारिश, कहीं सूखा

कहीं सूखा तो कहीं बाढ़. इन दिनों देश एक साथ सूखे और बाढ़ की समस्या से जूझ रहा है. दक्षिण भारत के राज्यों में जहां लोग पानी की किल्लत से जूझ रहे हैं वहीं गुजरात और दूसरे राज्यों में बाढ़ जैसे हालात बने हुए हैं.

Read more


मनरेगा के लिए बजट नहीं बढ़ाने पर सामाजिक कार्यकर्ता निखिल डे ने क्या कहा?

  • Team Hind Kisan
  • |
  • Jul. 06, 2019
मनरेगा के लिए कम बजट आवंटन से मजदूरों के लिए आवाज उठाने वाले निराश हैं. इस मुद्दे पर किसान मजदूर शक्ति संगठन के संस्थापक सदस्य निखिल डे से खास बातचीत की हमारे संवाददाता प्रशांत त्यागी ने.

Read more


नहीं बढ़ा मनरेगा का बजट

देश के आधे प्रदेश सूखे की चपेट में हैं. गांव कस्बों में पानी का इंतजाम और जल संरक्षण के साथ-साथ रोजगार जुटाने की दिशा में अहम भूमिका निभा सकता है मनरेगा.

Read more


इस साल जून में कम बरसे बादल

मॉनसून में देरी के चलते जून बीते सौ सालों में पांचवा सबसे ज्यादा सूखा महीना रहा है. इससे देश में सूखे के हालात पैदा हो गए हैं और खेती-किसानी पर भी बुरा असर पड़ा है.

Read more


पानी सहेजने की व्यवस्था पर सवाल

देश का आधे से ज्यादा हिस्सा सूखे की चपेट में हैं. कर्नाटक, तमिलनाडु और महाराष्ट्र पीने के पानी के संकट से जूझ रहे हैं.

Read more


पानी की किल्लत से बढ़ा पलायन

महाराष्ट्र में सूखे की समस्या लगातार बढ़ती जा रही है. लातूर जैसे इलाकों में पानी की किल्लत ने शहरों की ओर पलायन बढ़ा दिया है.

Read more


सूख रहे हैं प्राकृतिक जल स्त्रोत

पहाड़ी इलाकों में बढ़ते कंकरीट के निर्माण और दूसरे विकास कार्यों का प्राकृतिक जल स्रोतों पर बुरा असर पड़ रहा है. जंगल में आग लगने की घटनाएं भी आम होती जा रही है.

Read more


गंदा पानी पीने की मजबूरी

महाराष्ट्र के 70 फीसदी से ज्यादा जिले सूखे की चपेट में हैं. लोगों को टैंकरों के जरिए पानी पहुंचाया जा रहा है. ये नाकाफी साबित हो रहा है. इसके चलते लोग गंदा पानी पीने को मजबूर हैं.

Read more


महाराष्ट्र के 26 बांध सूखे

मॉनसून आने में देरी के बीच महाराष्ट्र में सूखे की समस्या दिनों दिन गहराती जा रही है. इस बीच महाराष्ट्र के बांधों में पानी लगातार सूखता जा रहा है. राज्य के 26 बांधों में जमा पानी पूरी तरह खत्म हो चुका है.

Read more


सूखती नदी, गिरता जल स्तर

गर्मी की शुरुआत होते ही देश में पानी की समस्या गहरा गई. जलवायु परिवर्तन, बढ़ते प्रदूषण के साथ बारिश की कमी का असर है कि बड़ी नदियों में भी जल स्तर काफी नीचे चला गया है. गांव कस्बों में तो हाल और ज्यादा भयावह है.

Read more


सूखे के साथ गहराया जल संकट

  • Team Hind Kisan
  • |
  • May. 10, 2019
महाराष्ट्र में सूखे के चलते हालात लगातार गंभीर होते जा रहे हैं. गोदावरी नदी कई हिस्सों में सूख गई है. इससे आसपास रहने वाले लोगों ने बांध से पानी छोड़ने की मांग शुरू कर दी है और अपनी बात ना माने जाने पर 13 मई को जलसमाधि लेने की चेतावनी दी है.

Read more


सूखने लगे महाराष्ट्र के बांध

मौसम के इस उतार-चढ़ाव के बीच महाराष्ट्र में जल संकट गहराता जा रहा है. यहां के बांधों में अब महज 20 फीसदी ही पानी बचा है जबकि मानसून आने में अभी एक महीने से ज्यादा की देरी है.

Read more


आसमान छू रहे सब्जियों के दाम

  • Team Hind Kisan
  • |
  • Apr. 29, 2019
एक तरफ सूखे के चलते बैंक कर्ज देने से पीछे हट रहे हैं, दूसरी तरफ बढ़ती गर्मी के बीच किसानों के लिए खेती करना लगातार मुश्किल होता जा रहा है. इसका असर बाजार पर भी पड़ा है.

Read more


किसानों को कर्ज नहीं!

  • Team Hind Kisan
  • |
  • Apr. 29, 2019
देश ही नहीं, महाराष्ट्र का आधे से ज्यादा हिस्सा इस साल सूखे का सामना कर रहा है. किसान मौसम की इस मार से बेहाल हैं. ऐसे मुश्किल वक्त में किसानों की मदद करने के बजाए सरकारी बैंक कर्ज देने से अपने हाथ पीछे खींचने लगे हैं जो कृषि संकट को बढ़ाने वाला है.

Read more


मनरेगा की अनदेखी, सूखे का प्रकोप

देश का आधा हिस्सा सूखे की चपेट में हैं. ग्रामीण इलाकों में स्थिति और भी बद्तर है लेकिन इससे निपटने के इंतजामों पर समय रहते गौर नहीं किया गया. डाउन टू अर्थ की ताजा रिपोर्ट में जहां जल प्रबंधन में मनरेगा का जिक्र किया वहीं सर्वे में मनरेगा और पानी की व्यवस्था से जुड़े चौकाने वाले तथ्य सामने आए है.

Read more


सूखे की समस्या बढ़ी

देश में सूखे जैसे हालात हैं। खेत सूखे हैं, मिट्टी पानी को तरस गई है, लोगों के गले भी सूख चुके हैं। महाराष्ट्र में सूखा प्रभावित इलाकों में किसानों की खुदकुशी के मामलों में भी इजाफा देखा जा रहा है।

Read more


गर्मी आते ही गहराता जल संकट

मध्य प्रदेश के पन्ना जिले में गर्मी आने के साथ पानी की किल्लत बढ़ने लगी है। एक गांव ऐसा है, जहां सभी लोगों को अपना सारा कामकाज छोड़कर पानी के इंतजाम में लगना पड़ता है।

Read more


कब रुकेंगे प्याज किसानों के आंसू

  • Team Hind Kisan
  • |
  • Apr. 12, 2019
इस हफ्ते अकेले नासिक जिले में अब तक चार किसान खुदकुशी कर चुके हैं। इनमें से तीन किसानों की खुदकुशी के पीछे प्याज की गिरती कीमत को जिम्मेदार बताया जा रहा है। सूखा झेल रहे महाराष्ट्र के किसानों के लिए प्याज की खेती नासूर बन गई है।

Read more


पानी का संकट, सूखे की मार

  • Team Hind Kisan
  • |
  • Mar. 12, 2019
Indian Institute of Technology यानी आईआईटी गांधीनगर की Water and Climate Lab ने देश में सूखे से जुड़े आंकडे जारी किये हैं।

Read more


सूखा प्रभावित इलाकों का मुआयना

सूखा राहत को लेकर कर्नाटक और केंद्र सरकार के बीच आरोप-प्रत्यारोप जारी है। हालांकि इस बीच एक केंद्रीय दल ने जमीनी हालात जानने के लिए सूखाग्रस्त इलाके का दौरा किया है।

Read more


सूखे ने तोड़ी धान किसानों की कमर

देश का किसान आज भी अपनी खेती के लिए मौसम पर निर्भर है।

Read more


सूखा राहत मिलने में देरी

महाराष्ट्र की देवेंद्र फणवीस सरकार एक महीने पहले ही आधे से ज्यादा तहसीलों को सूखा ग्रस्त घोषित कर चुकी है। लेकिन जरूरतमंदों को अब तक कोई मदद नहीं मिल पाई है।

Read more


कोप्पल : सूखे खेतों में लहलहाई चंदन की खेती

  • Team Hind Kisan
  • |
  • Nov. 12, 2018
देश का शायद ही कोई ऐसा हिस्सा हो, जहां के किसानों को मौसम का उतार-चढ़ाव ना झेलना पड़ रहा हो। लेकिन कर्नाटक के कोप्पल जिले में अक्सर पड़ने वाले सूखे से निपटने के लिए किसानों ने चंदन की खेती को आधार बनाया है।

Read more


रांची : पानी की कमी से धान की फसल चौपट

  • Team Hind Kisan
  • |
  • Nov. 08, 2018
झारखंड के किसानों पर सूखा भारी पड़ता दिखाई दे रहा है। खरीफ की फसलें चौपट हो चुकी है। वहीं, रबी की खेती हो पाने की उम्मीद भी नजर नहीं आ रही। देखिए रांची से सुरेंद्र सोरेन की रिपोर्ट

Read more


झारखंड : 129 ब्लॉक को सूखाग्रस्त घोषित करने की तैयारी

  • Nov. 01, 2018
झारखंड में सूखे की स्थिति बिगड़ती जा रही है। इसे देखते हुए मुख्यमंत्री रघुवर दास ने राज्य के 129 ब्लॉक में सूखे की रिपोर्ट केंद्र सरकार को भेजने का निर्देश दिया है, ताकि उन्हें सूखाग्रस्त घोषित करने की मांग की जा सके।

Read more


औरंगाबाद : सरकार से मदद की उम्मीद में किसान

  • Team Hind Kisan
  • |
  • Oct. 29, 2018
सूखे की मार से औरंगाबाद के किसानों की हालत खराब है। अरहर, कपास और बाजरे की पैदावार में भारी गिरावट आई है। इससे मायूस किसान अब सरकार से मदद की उम्मीद कर रहे हैं। देखिए औरंगाबाद से इसरार चिश्ती की रिपोर्ट

Read more


बांध सूखे, मवेशियों के लिए भी नहीं पानी

  • Team Hind Kisan
  • |
  • Oct. 22, 2018
महाराष्ट्र का मराठवाड़ा इन दिनों सूखे की मार झेल रहा है। हालात इतने खराब हैं कि कई बांध सूख चुके हैं, जानवरों के लिए पीने का पानी नहीं मिल पा रहा है।

Read more


रायसेन : पानी की कमी से किसान परेशान

  • Team Hind Kisan
  • |
  • Sep. 27, 2018
मध्य प्रदेश के कई इलाकों में किसान भारी बारिश और बाढ़ से परेशान हैं, वहीं रायसेन के किसान पानी की किल्लत का सामना कर रहे हैं। इससे धान की फसलें ना केवल सूखे की चपेट में हैं, बल्कि रोगों का भी शिकार बन रही हैं।

Read more


बुंदेलखंड में तुलसी और एलोवेरा की खेती को बढ़ावा

  • Sep. 17, 2018
बुंदेलखंड में दलहन-तिलहन की तरह 2018-19 में तुलसी और एलोवेरा की खेती को बढ़ावा दिया जा रहा है। उत्तर प्रदेश के बांदा जिले में उद्यान विभाग ने राष्ट्रीय आयुष मिशन को बाढ़ावा देने के लिए किसानों से ऑनलाइन आवेदन मांगे हैं। इसके तहत तुलसी के लिए 10 हेक्टेयर और एलोवेरा के लिए 4 हेक्टेयर का लक्ष्य तय किया गया है।

Read more


मराठवाड़ा में 8 महीनों में 574 किसानों ने ख़ुदकुशी की

  • Aug. 23, 2018
मराठवाड़ा के 8 जिलों में किसान आत्महत्या की भयावह स्थिति सामने आई है। इस क्षेत्र में इस साल 1 जनवरी से 19 अगस्त तक कुल 574 किसानों की खुदकुशी के मामले दर्ज हुए है। इनमें से सबसे ज्यादा 115 मामले सूखा ग्रस्त बीड़ जिले में दर्ज हुए है।

Read more


बारिश ना होने से किसानों में मायूसी

  • Team Hind Kisan
  • |
  • Aug. 16, 2018
मध्य प्रदेश के झाबुआ जिले में किसानों को बादलों की बेरुखी का सामना करना पड़ रहा है। बारिश ना होने से मक्का, धान और सोयाबीन जैसी खरीफ की फसलें सूखने की कगार पर पहुंच गई हैं। देखिए झाबुआ से राजेंद्र सिंह सोंगारा की ये रिपोर्ट।

Read more


किसानों पर मौसम की बेरुखी और सरकारी बदइंतजामी की मार

  • Team Hind Kisan
  • |
  • Aug. 06, 2018
मध्य प्रदेश की शिवराज सिंह चौहान सरकार किसानों को दस घंटे बिजली देने का दावा करती है। लेकिन बादलों की बेरुखी का सामना कर रहे होशंगाबाद के किसानों को पांच घंटे भी बिजली नहीं मिल पा रही है।

Read more


सामान्य से कम बारिश के पूर्वानुमान बढ़ाई चिंता

  • Aug. 01, 2018
मौसम का पूर्वानुमान करने वाली निजी संस्था स्काईमेट ने मॉनसून को लेकर चिंता बढ़ाने वाली जानकारी दी है। उसका कहना है कि इस साल सामान्य से कम बारिश होगी। स्काईमेट के मुताबिक मॉनसून की सुस्त रफ्तार के चलते अगस्त में औसत की 88%, जबकि सितंबर में 93% बारिश ही होगी।

Read more


बिहार के किसानों के लिए केंद्रीय सहायता की मांग

  • Jul. 27, 2018
मॉनसून में कमी के बीच बिहार के किसानों के लिए केंद्रीय सहायता की मांग जोर पकड़ने लगी है। राज्यसभा में शून्यकाल में जेडीयू के सांसद रामनाथ ठाकुर ने कहा कि बिहार में किसान सूखे जैसे हालात का सामना कर रहे हैं।

Read more


बिहार सरकार ने डीज़ल की सब्सिडी बढ़ाई

  • Jul. 23, 2018
बिहार में इस साल मॉनसून में देरी के कारण राज्य सरकार ने किसानों को राहत देने के लिए तैयारी शुरू कर दी है। मंत्रियों और अधिकारियों के साथ एक उच्च स्तरीय बैठक में मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने डीजल सब्सिडी में बढ़ोतरी का एलान किया।

Read more


इज़रायली टीम का बुंदेलखंड का दौरा

सूखे की मार झेल रहे बुंदेलखंड को इस हालात से उबारने के लिए इज़रायल की टीम यहां पहुंची है। इलाक़े का जायजा लेने के बाद टीम कुछ उपाय सुझाएगी। झांसी से अजय झा की रिपोर्ट।

Read more


योगी राज में बुंदेलखंड में पसरा सन्नाटा

  • Team Hind Kisan
  • |
  • Jul. 09, 2018
सालों से सूखे की मार झेल रहे बुंदेलखंड में पलायन की समस्या गहराती जा रही है। बीते कई सालों में यहां की आधी से ज्यादा आबादी नजदीकी शहरों में जा बसी है। जो आबादी यहां बची है, वो मुश्किलों का सामना कर रही है।

Read more


महाराष्ट्र: मई तक हज़ार से ज़्यादा किसानों ने की ख़ुदकुशी

  • Jul. 07, 2018
महाराष्ट्र में कर्जमाफी के ऐलान और किसानों की बेहतरी के दावों के बीच राज्य सरकार ने किसानों की आत्महत्या पर आधिकारिक आंकड़े जारी किए है। आंकड़ों के अनुसार, राज्य में इस साल मई तक 1092 किसानों ने आत्महत्या की है।

Read more


झांसी: सिंचाई वाले बांध को पानी का इंतजार

उत्तर प्रदेश के झांसी का सपरार बांध पूरी तरह सूख चुका है। 1952 में बने इस बांध का हस्र बीते तीन साल से ऐसा ही हो रहा है। अगर बारिश नहीं हुई तो पूरे बांध में पानी का एक कतरा भी नहीं जमा होगा।

Read more


एक टंकी कितनों की प्यास बुझाए?

मध्य प्रदेश के सतना ज़िले में पानी की समस्या विकराल हो चुकी है। गांव दर गांव यही हालात हैं। हैंडपंपों पर इतनी भीड़ होती है कि पानी के लिए घंटों इंतज़ार करना पड़ता है। सतना से मृदुल पांडेय की रिपोर्ट

Read more


सूख गया गांव, पानी के लिए रोज़ाना संघर्ष

मध्य प्रदेश के नरसिंहपुर ज़िले के इस गांव में जितने हैंडपंप और कुएं थे, सब सूख गए। कई किलोमीटर दूर एक हैंपपंप है, जहां आस-पास के सारे गांव वाले आकर पानी भरते हैं।

Read more


पानी के लिए लोग स्कूल-मज़दूरी छोड़ रहे

गुजरात में जलसंकट इस क़दर गहरा गया है कि लोगों का पेट पालना मुश्किल हो गया है। देखिए पानी के अभाव के कारण लोग किस तरह न तो स्कूल जा रहे और न ही मज़दूरी कर पा रहे।

Read more


छिंदवाड़ा में हालात हुए विकराल

पानी की क़ीमत का अंदाज़ा हर कोई नहीं लगा सकता। इस रिपोर्ट में जो आप तस्वीरें देखेंगे, उससे पता चलेगा कि इतनी बड़ी आबादी पानी के लिए कैसे संघर्ष कर रही है।

Read more


किसानों के लिए अच्छी ख़बर?

  • Apr. 17, 2018
बारिश अच्छी होगी, तो फ़सल बेहतर होगी और उससे खेती से जुड़े लोगों के घर में खुशहाली आएगी- यह आम समझ है। इसलिए जब कभी भारतीय मौसम विभाग सामान्य मॉनसून की भविष्यवाणी करता है, मेनस्ट्रीम मीडिया तुरंत इसे किसानों के लिए खुशी या राहत की ख़बर के रूप पेश करने लगता है।

Read more


सूख रहा बुंदेलखंड, गंदे पानी से प्यास बुझा रहे हैं लोग

बुंदेलखंड से सूखे की ख़बर हर बार आती है, लेकिन धीरे-धीरे इलाक़े का जलस्रोत ही ग़ायब होने लगा है। गांव के गांव सूखते जा रहे हैं। लोग गंदा पानी पीने को मजबूर हैं। हालत ये है कि इन गांवों में लोगों की शादी-ब्याह तक नहीं हो रही।

Read more