Report

पीढ़ियां खप गईं कर्ज चुकाने में


खेती के लिए किसानों को बैंकों से कर्ज दिलाने पर जोर दिया जा रहा है, ताकि उन्हें साहूकारों के जाल में फंसने से बचाया जा सके. लेकिन कर्ज वसूली को लेकर बैंकों की नीति किसानों पर भारी पड़ रही है. खेती के लिए बैंक से कर्ज लेना साहूकारों के जाल में उलझने से कतई कम नहीं हैं. सतना से मृदुल पांडे की रिपोर्ट…