Latest News

फसल बीमा से क्यों भाग रहे हैं किसान


मोदी सरकार फसल बीमा योजना से किसानों को मिले लाभ गिनाते नहीं थक रही है. लेकिन फसलों का बीमा कराने वाले किसानों की संख्या लगातार घट रही है. अकेले गुजरात में इस साल खरीफ सीजन में फसल बीमा कराने वाले किसानों की संख्या 12 फीसदी घट गई. वहीं, किसानों की ओर से बीमा कंपनियों को दिया गया प्रीमियम 16 फीसदी बढ़ गया. State Level Bankers’ Committee की रिपोर्ट के मुताबिक बीते साल खरीफ सीजन में 15.53 लाख किसानों ने फसल बीमा कराया. इसके लिए किसानों 366 करोड़ रुपये प्रीमियम भरा. लेकिन इस साल खरीफ में 13.69 लाख किसानों ने फसल बीमा कराया और 400 करोड़ प्रीमियम भरा। ‘फसल बीमा योजना’ के तहत खरीफ फसलों के लिए किसानों को 1.5 फीसदी, रबी फसलों के लिए 2 फीसदी और बागवानी के लिए 5 फीसदी प्रीमियम देना होता है. बाकी का प्रीमियम केंद्र और राज्य सरकारें भुगतान करती हैं. इस बीच बजट से पहले वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण के साथ बैठक में किसान संगठनों ने फसल बीमा योजना बंद करने और इसकी जगह पर ‘किसान आपदा और संकट राहत आयोग ‘ बनाने का सुझाव दिया है.