Latest News

उत्तराखंड : अपने ही पैसों के लिए सड़कों पर उतरने को मजबूर किसान


उत्तराखंड में किसानों को अपने ही पैसों के लिए सड़कों पर उतरना पड़ रहा है। उधमसिंह नगर जिले के सितारगंज में धान की बिक्री ना होने और पहले की खरीद के भुगतान में देरी से परेशान किसानों ने चक्का जाम कर दिया। किसानों का आरोप है कि सरकारी केंद्रों पर धान की खरीद नहीं हो रही और राइस मिलें भी सही दाम नहीं दे रहीं। सरकार ने धान के लिए 1,750 रुपए प्रति क्विंटल का न्यूनतम समर्थन मूल्य यानी एमएसपी घोषित किया है। लेकिन व्यापारी किसानों से 1500 से 1600 रुपए प्रति क्विंटल में ही धान खरीद रहे हैं। उधर, हरिद्वार में इक़बालपुर शुगर मिल के बाहर गन्ने के बकाया भुगतान के लिए किसानों का धरना 23 वें दिन भी जारी रहा। जिले के लक्सर, झेबरेड़ा, लिब्बरहड़ी और इक़बालपुर की शुगर मिलों पर किसानों के करोड़ों रूपए बकाया हैं। मिल मालिक लगातार आश्वासन दे रहे हैं, लेकिन किसानों को बकाया नहीं मिल पा रहा है। राज्य की शुगर मिलों पर गन्ना किसानों के 386 करोड़ रुपये बकाया हैं। इसमें इकबालपुर शुगर मिल पर किसानों का बकाया 145 करोड़ रुपए है। आर्थिक तंगी झेल रहे किसानों को इस बार अपनी दिवाली फींकी पड़ती नजर आ रही है। उन्होंने जल्द भुगतान ना होने पर मुख्यमंत्री का घेराव करने का ऐलान किया है।