Latest News

पंजाब : 2017 के बाढ़ पीडितों का लंबित मुआवजे के तत्काल भुगतान का निर्देश

फोटो स्रोत-हिंदुस्तान टाइम्स

पंजाब सरकार ने 2017 के बाढ़ प्रभावित किसानों के किसी भी तरह के बकाया मुआवजे का तत्काल भुगतान करने का निर्देश दिया है। बीते दिनों तेज बारिश से नुकसान का जायजा लेने के लिए आयोजित बैठक में मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह ने 2017 के बाढ़ पीड़ितों को मुआवजा मिलने में देरी पर चिंता जताई। उन्होंने राजस्व विभाग से फंड मिलने के बावजूद मुआवजा ना बांटे जाने पर उपायुक्तों से जवाब भी मांगा। इस बैठक में मुख्यमंत्री ने हालिया बारिश और बाढ़ के दौरान मारे गए लोगों के परिजनों को चार-चार लाख रुपये मुआवजा देने का भी निर्देश दिया। बीते दिनों तेज बारिश से किसानों को काफी नुकसान उठाना पड़ा है। इससे तरण तारण में दो, अमृतसर, होशियारपुर और मोंगा में एक-एक लोगों को अपनी जान गंवानी पड़ी।

बैठक में मुख्यमंत्री कैप्टर अमरिंदर सिंह ने यह भी कहा कि उन किसानों को 12,000 रुपये प्रति एकड़ के हिसाब से मुआवजा दिया जाना चाहिए, जिनकी फसल बारिश और बाढ़ से पूरी तरह खराब हो गई है। सरकार के प्रवक्ता ने बताया कि 76% से 100% तक नुकसान होने पर किसानों को 12,000 रुपये प्रति एकड़, 33% से 75% तक नुकसान होने पर 5,400 रुपये प्रति एकड़ और 26% से 32% तक नुकसान होने पर 2,000 रुपये प्रति एकड़ के हिसाब से मुआवजा देने का प्रावधान है। इसके अलावा जिनके मकानों को पूरी तरह नुकसान पहुंचा है, उन्हें 90,000 रुपये, वहीं आंशिक रूप से नुकसान होने वाले मकानों को 52,000 रुपये भुगतान करने का नियम है। वहीं, गाय और भैंसों के नुकसान पर 30,000 से लेकर 90,000 रुपये मुआवजा देने का नियम है। इस बैठक के दौरान अधिकारियों ने मुख्यमंत्री को बताया कि हालिया बारिश और बाढ़ से जान-माल के नुकसान का आंकड़ा जुटाने के बाद केंद्र से मदद मांगने के लिए प्रस्ताव तैयार किया जाएगा।