Latest News

गरीबी-अमीरी का अंतर बढ़ा


देश में 2005 से 2015 के बीच लगभग 27 करोड़ लोग गरीब रेखा से बाहर आ गए. लेकिन दुनिया के लगभग 28 फीसदी गरीब अभी भी भारत में रहते हैं। UN Human Development Index-2019 से ये बात सामने आई है। औसत आयु, शिक्षा और प्रति व्यक्ति आय के आधार पर तैयार होने वाले इस इंडेक्स में 189 देश शामिल हैं। इसमें भारत को 129वां स्थान मिला है। हालांकि, बीते साल के मुकाबले इसमें एक स्थान का सुधार आया है।
लेकिन गैर-बराबरी की थीम पर आधारित इस इंडेक्स से अमीर-गरीब के बीच की खाई चौड़ी होने की बात सामने आई है। इसके मुताबिक आबादी के 1 फीसदी हिस्से के पास देश की कुल आय का 20% हिस्सा है। बाकी के 10 फीसदी लोगों के पास कुल आय का 55% हिस्सा है। इसके अलावा समूहों, खास तौर पर महिलाओं से जुड़ी असमानता में भी इजाफा हुआ है। 122 देशों के Gender Inequality Index में भारत 122वें स्थान पर है, जबकि चीन 39वें, श्रीलंका 86वें, और भूटान 99वें स्थान पर है।

इसके अलावा तकनीक, शिक्षा और जलवायु से जुड़ी असमानता भी बढ़ी है।