Latest News

कृषि क्षेत्र में उतरी आईबीएम

फोटो स्रोत- द पॉयोनियर

तकनीकी क्षेत्र में दुनिया की जानी-मानी कंपनी आईबीएम आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस (एआई) प्लेटफॉर्म के जरिए कृषि क्षेत्र में उतर गई है। सोमवार को उसने ‘वाटसन डिसीजन प्लेटफॉर्म फॉर एग्रीकल्चर’ प्लेटफॉर्म लॉन्च किया। अमेरिका स्थित इस कंपनी का मकसद दुनिया के 2,40,000 करोड़ डॉलर के कृषि क्षेत्र को भुनाना है। कंपनी अब अपने इस आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस प्लेटफॉर्म के लिए साझेदारी करने वाली सरकारी संस्थाओं और वित्तीय संस्थाओं की तलाश कर रही है, ताकि इसकी पहुंच को बढ़ाया जा सके।

भारत और सिंगापुर में शोध के लिए कंपनी के उपाध्यक्ष श्रीराम राघवन ने कहा, ‘हम प्लेटफॉर्म के लिए लोक उद्यमों और बैंकों के साथ-साथ बीमा कंपनियों से साझेदारी करेंगे।’ उन्होंने यह भी कहा कि नीति आयोग के साथ कंपनी का समझौता एआई को कृषि क्षेत्र के लिए इस्तेमाल करने पर आधारित होगा। श्रीराम राघवन ने यह भी बताया कि जिन राज्यों में पायलट प्रोजेक्ट को लागू किया जाना है, उन्हें चिन्हित कर लिया गया है। उनके मुताबिक नीति आयोग के लिए बनाए जा रहे प्रोजेक्ट का काम पूरा हो चुका है और बहुत जल्द इसे जमीन पर उतारा जाएगा।

आईबीएम के इस प्लेटफॉर्म में अलग-अलग स्रोतों से आने वाले आंकड़ों का इस्तेमाल होता है, इसमें सैटेलाइट से लेकर मौसम की जानकारी देने वाली कंपनियों के आंकड़े शामिल हैं। इसके जरिए किसानों को रियल टाइम सलाह दी जा सकती है। ये बैंकों और बीमा कंपनियों के साथ अनाज व्यापारियों के लिए जोखिम का आकलन करने में भी मददगार है। इसके अलावा ये प्लेटफॉर्म कृषि उपज, मिट्टी में नमी और फसलों की सेहत का भी आकलन करने में भी मददगार है।