Latest News

पंजाब: पराली के मुद्दे पर किसानों ने रोकी रेल


पंजाब में पराली जलाने पर पाबंदी को लेकर किसान और सरकार के बीच तनातनी बढ़ती जा रही है। गुरुवार को किसान मजदूर संघर्ष कमेटी के बैनर तले किसानों ने कई जगहों पर रेलवे ट्रैक जाम कर दिया। फिरोजपुर में किसानों ने दो जगहों पर रेलवे ट्रैक पर प्रदर्शन किया। इससे राजस्थान और जम्मू जाने वाली कई ट्रेनों पर असर पड़ा। प्रदर्शनकारी किसान सरकार से पराली ना जलाने के बदले उचित मुआवजे और किसानों पर दर्ज मामले वापस लेने की मांग कर रहे हैं। उन्होंने अपनी मांगें ना माने जाने पर संघर्ष तेज करने का ऐलान किया है।

वहीं, पंजाब सरकार ने पराली जलाने की समस्या से निपटने के लिए केंद्र से मदद मांगी है। गुरुवार को मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह ने दिल्ली में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से मुलाकात में ये बात उठाई। उन्होंने किसानों को पराली ना जलाने के बदले मुआवजा देने के लिए केंद्र से राशि आवंटित किए जाने की मांग की।

उधर, हरियाणा के किसानों ने भी पाबंदी के बाद पराली जलाना शुरू कर दिया है। फतेहाबाद जिले में पराली जलाने के 18 मामले सामने आए, जिसके बाद प्रशासन ऐसे किसानों पर कार्रवाई करने की तैयारी कर रहा है। हालांकि, किसान सरकार से पराली ना जलाने के बदले कोई पुख्ता नीति लाने की मांग कर रहे हैं।

पंजाब और हरियाणा में धान की पराली जलाने का असर दिल्ली की आबोहवा पर पड़ने लगा है। यहां कई इलाकों में प्रदूषण का स्तर काफी गंभीर हो गया है। सेंट्रल पॉल्यूशन कंट्रोल बोर्ड के मुताबिक शहर का एयर क्वालिटी इंडेक्स 300 के पार पहुंच गया है जो ‘वैरी पुअर’ कैटेगरी में आता है। हर साल अक्टूबर आते ही दिल्ली की हवा में धूल-धूएं के साथ पार्टिकुलेट मीटर यानी पीएम-2.5 और पीएम-10 कणों की मात्रा बढ़ जाती है। इससे आंखों में जलन और सांस लेने में तकलीफ होने लगती है।