Latest News

पंजाब : किसानों को ट्यूबवेल कनेक्शन जारी करने का आदेश

फोटो स्रोत- डेली पोस्ट

पंजाब में ट्यूबवेल कनेक्शन के लिए किसानों का इंतजार खत्म होने वाला है। मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह ने उन सभी किसानों के ट्यूबवेल कनेक्शनों को जारी करने का आदेश दिया है, जो इसके लिए भुगतान कर चुके हैं। किसान मजदूर संघर्ष कमेटी के साथ बैठक के दौरान मुख्यमंत्री ने पंजाब स्टेट पॉवर कार्पोरेशन लिमिटेड के चेयरमैन को हर हाल में किसानों को 15 नवंबर तक कनेक्शन जारी करने का निर्देश दिया। पॉवरकॉम के चेयरमैन ने तय समय सीमा में लगभग 7,000 लंबित ट्यूबवेल कनेक्शन जारी करने का आश्वासन दिया। मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह ने धान की पराली जलाने से होने वाले प्रदूषण से निपटने के लिए उपकरण मुहैया कराने का निर्देश दिया। किसान संगठन के साथ बैठक के दौरान उन्होंने अतिरिक्त मुख्य सचिव कृषि को किसानों को 15 अक्टूबर से पहले पराली प्रबंधन में इस्तेमाल होने वाले उपकरण को छूट पर मुहैया कराने का निर्देश दिया।

मुख्यमंत्री को अधिकारियों ने बताया कि पराली प्रबंधन में काम आने वाले उपकरणों की संख्या 24,000 है, जिनमें से आठ हजार उपकरणों को किसानों, सहकारी समितियों और किराए पर उपकरण देने वाले केंद्रों को बांटा जा चुके हैं। इसके साथ मुख्यमंत्री अमरिंदर सिंह ने सभी किसानों से पुआल का निपटान करने के लिए सब्सिडी पर मिलने वाले उपकरणों का इस्तेमाल करने की अपील की। कृषि कर्जमाफी का जिक्र करते हुए कहा कि अब तक राज्य के 3.7 लाख किसानों को इसका लाभ दिया जा चुका है और पूरी प्रक्रिया को इस साल के अंत तक पूरा कर लिया जाएगा। राज्य सरकार की कर्जमाफी योजना से राज्य के 10 लाख से ज्यादा छोटे और सीमांत किसानों को फायदा मिलेगा। वहीं, नई कृषि नीति के सवाल पर मुख्यमंत्री अमरिंदर सिंह का कहना था कि सरकार किसानों के हितों को ध्यान में रखने वाली नीति लाएगी।