संसद से कृषि से जुड़े 2 विधेयक पारित हो चुके हैं. लेकिन इनके विरोध में सड़क से संसद तक घमासान अब भी जारी है. सवाल ये है किसानों और किसान संगठनों के सामने अब क्या रास्ता बचा है. ‘हिंद किसान की बात’ के इस अंक में हमने
राकेश टिकैत, वीएम सिंह और अजयवीर जाखड़ से इसी मुद्दे पर चर्चा की हिंद किसान के एडिटर इन चीफ हरवीर सिंह ने