समाचार
  • मुख्यमंत्री अमरिंदर सिंह ने की प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से मुलाकात
  • पराली पर मुआवजा बढ़ाने के लिए केंद्र से मांगी आर्थिक मदद
  • पंजाब के फिरोजपुर में पराली के मुद्दे पर किसानों ने रोकी रेल
  • पराली जलाने पर दर्ज मामले वापस लेने की मांग
  • मांगें ना माने जाने पर पड़ा आंदोलन करने की चेतावनी
  • हरियाणा में भी रोक के बावजूद पराली जलाने के मामले
  • फतेहाबाद में सामने आए 18 मामले
  • पाबंदी ना मानने वाले किसानों पर सख्त कार्रवाई की तैयारी
  • पराली जलाने का दिल्ली की हवा में असर
  • दिल्ली में बढ़ा प्रदूषण का स्तर
  • 300 के पार पहुंचा एयर क्वालिटी इंडेक्स
  • राजस्थान के जयपुर में गहराया ज़ीका वायरस का संकट
  • सौ पहुंची मरीजों की संख्या
  • मच्छरों पर काबू पाने के उपाय तेज

From The Desk

पंजाब: प्रशासन ने धान किसानों की फसल रौंदी

फ़ोटो स्रोत: ट्रिब्यून इंडिया

पंजाब सरकार ने धान किसानों की फसल पर ट्रैक्टर चला दिया। दरअसल राज्य के किसानों ने सरकारी निर्देशों के बावजूद धान की बुआई शुरू कर दी थी। जिसके बाद कृषि विभाग ने सरकारी निर्देश के उल्लंघन करने के मामले सख्त रवैया अख़्तियार करते हुए चार एकड़ पर लगी धान की फसल रौंद दी। मामला फ़िरोज़पुर का है। क़ानून के अनुसार किसानों से दस हज़ार रुपए प्रति हेक्टेयर जुर्माना भी वसूला जा सकता है। बता दें कि पंजाब गहरे भू-जलसंकट से जूझ रहा है। इसलिए सरकार ने राज्य के किसानों को सख़्त निर्देश दिए थे कि 20 जून से पहले धान की बुआई न की जाए। लेकिन किसानों ने 10 जून से ही बुआई शुरू कर दी। अकेले भठिंडा में अब तक 151 एकड़ ज़मीन पर धान की खेती की जा चुकी है। प्रशासन ने भठिंडा के किसानों को नोटिस जारी करते हुए कहा है कि दो दिन के अंदर बोया हुआ धान उखाड़ा जाए वरना कार्रवाई की जाएगी। प्रशासन की कड़े रुख से गुस्साए किसानों ने दो टूक कहा कि वे नोटिस से डरे हुए नहीं हैं और कृषि अधिकारियों को खेतों में घुसने नहीं दिया जाएगा।