समाचार उत्तर प्रदेश के शाहजहांपुर में प्रधानमंत्री की किसान कल्याण रैली| गन्ना किसानों के लिए सरकार ने बड़ा फैसला लिया- पीएम| लागत से लगभग पौने दो गुना बढ़ाया गन्ना का एफआरपी- पीएम| खरीफ़ की फ़सल की एमएसपी में ऐतिहासिक बढ़ोतरी- पीएम| गांव और किसान सरकार की प्राथमिकता- पीएम| उत्तर प्रदेश के बिजनौर में गन्ना किसानों का प्रदर्शन| बकाया भुगतान और चीनी मिल चालू कराने की मांग को लेकर प्रदर्शन| किसानों ने की बिजली की बढ़ी दरें वापस लेने और किसानों को पेंशन की मांग| संभल में 4 अगस्त को कई किसान संगठन जुटेंगे| स्वामीनाथन आयोग की सिफारिशों को लागू करने के लिए जुटेंगे किसान| पंजाब में नशे के ख़िलाफ़ किसान संगठन ने निकाला मार्च| किसान मजदूर मुलाजिम तालमेल संघर्ष कमेटी की अगुवाई में मार्च| 23 जुलाई को किसान मुरादाबाद मंडलायुक्त कार्यालय का घेराव करेंगे| 26 जुलाई से राष्ट्रीय किसान महासंघ की किसान जागरण यात्रा की शुरुआत| 26 जुलाई से 26 अगस्त तक चलेगी यात्रा| अनिश्चितकालीन हड़ताल पर देश भर के ट्रक ऑपरेटर्स| देश के कई हिस्सों में ट्रक ऑपरेटर्स यूनियन ने प्रदर्शन किया| जरूरी सामान की आवक पर असर, मंडियों में पसरा सन्नाटा| छत्तीसगढ़ में तेज हुई चुनावी राजनीति| अजीत जोगी ने किसानों से किया बड़ा वादा| धान की एमएसपी बढ़ाने और कर्ज़ माफ़ी का वादा किया| उत्तर प्रदेश के शाहजहांपुर में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की रैली| संभल में 4 अगस्त को कई किसान संगठन जुटेंगे| स्वामीनाथन आयोग की सिफारिशों को लागू करने के लिए जुटेंगे किसान| पंजाब में नशे के ख़िलाफ़ किसान संगठन ने निकाला मार्च| किसान मजदूर मुलाजिम तालमेल संघर्ष कमेटी की अगुवाई में मार्च| 23 जुलाई को किसान मुरादाबाद मंडलायुक्त कार्यालय का घेराव करेंगे| 26 जुलाई से राष्ट्रीय किसान महासंघ की किसान जागरण यात्रा की शुरुआत| 26 जुलाई से 26 अगस्त तक चलेगी यात्रा|

From The Desk

दूध उत्पादकों की प्रदर्शन की चेतावनी

  • Jul. 11, 2018

महाराष्ट्र के बाद अब हिमाचल प्रदेश में रामपुर के दूध उत्पादकों ने दाम बढ़ाने की मांग को लेकर 16 जुलाई को प्रदर्शन करने की चेतावनी दी है। हिमाचल किसान सभा की बैठक में दूध उत्पादकों ने इसका ऐलान किया। इनकी मांग है कि दूध की न्यूनतम कीमत 30 रुपए हो। इसके अलावा किसान पशुओं के लिए चारा, चोकर और दाने जैसी चीजें को भी सरकारी दुकानों से मुहैया कराने की मांग कर रहे। राज्य में बाजार में दूध की क़ीमत 50 से 60 रुपए प्रति लीटर है लेकिन दूध उत्पादक सहकारी समिति मिल्कफेड को 17 से 19 रुपए में बेचने के लिए मजबूर हैं। इसके अलावा उन्हें समिति की दूसरी लापरवाही के चलते भी अक्सर नुक़सान उठाना पड़ता है। दूध उत्पादकों की शिकायत ये भी है कि पशुपालन पर मिलने वाली सब्सिडी का फायदा भी छोटे किसानों के बजाए बड़े किसानों या डेरी उद्योग चलाने वालों के हिस्से में चला जाता है। रामपुर के दूध उत्पादक पहले भी दूध की क़ीमत बढ़ाने की मांग को लेकर प्रदर्शन कर चुके हैं।