समाचार
  • मुख्यमंत्री अमरिंदर सिंह ने की प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से मुलाकात
  • पराली पर मुआवजा बढ़ाने के लिए केंद्र से मांगी आर्थिक मदद
  • पंजाब के फिरोजपुर में पराली के मुद्दे पर किसानों ने रोकी रेल
  • पराली जलाने पर दर्ज मामले वापस लेने की मांग
  • मांगें ना माने जाने पर पड़ा आंदोलन करने की चेतावनी
  • हरियाणा में भी रोक के बावजूद पराली जलाने के मामले
  • फतेहाबाद में सामने आए 18 मामले
  • पाबंदी ना मानने वाले किसानों पर सख्त कार्रवाई की तैयारी
  • पराली जलाने का दिल्ली की हवा में असर
  • दिल्ली में बढ़ा प्रदूषण का स्तर
  • 300 के पार पहुंचा एयर क्वालिटी इंडेक्स
  • राजस्थान के जयपुर में गहराया ज़ीका वायरस का संकट
  • सौ पहुंची मरीजों की संख्या
  • मच्छरों पर काबू पाने के उपाय तेज

From The Desk

नैफेड ने कहा गुजरात में है जंगलराज

फ़ोटो स्रोत: इंडियन को-ऑपरेटिव

केंद्र सरकार की एजेंसी राष्ट्रीय कृषि सहकारी विपणन संघ (नैफेड) ने गुजरात में जंगल राज होने का आरोप लगाया। राजकोट में प्रेस वार्ता के दौरान नैफेड के चेयरमैन वाघजी बोडा ने गुजरात सरकार पर मूंगफली की खरीद में हो रही अनियमितताओं के बारे में सरकार को दोषी बताया। उन्होंने कहा कि जिन गोदामों में मूंगफली जलकर नष्ट हुईं, वे गुजरात वेयरहाउसिंग कॉर्पोरेशन, गुजकोमासोल और राज्य संचालित एपीएमसी द्वारा किराए पर लिए गए थे। वाघजी बोडा ने कहा कि कई खुले गोदामों में भी मूंगफली संग्रहित की गई थी लेकिन स्टॉक सुरक्षित है। गुजरात भी यूपी-बिहार की तरह बन गया है। यहां भी जंगल राज है। उन्होंने कहा कि कृषि मंत्री आर सी फाल्डू एमएसपी में मूंगफली की ख़रीद की अनियमितताओं के लिए नैफेड पर निराधार आरोप लगा रहे हैं। मामले की जांच होनी चाहिए। दरअसल बीते दिन गुजरात के कृषि मंत्री आर सी फाल्डू ने गोदामों में रखी मूंगफली नष्ट होने के मामले में नैफेड पर आरोप लगाया था। उसी की प्रतिक्रिया में नैफेड के चेयरमैन वाघजी बोडा ने प्रेस वार्ता की।