समाचार
  • मुख्यमंत्री अमरिंदर सिंह ने की प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से मुलाकात
  • पराली पर मुआवजा बढ़ाने के लिए केंद्र से मांगी आर्थिक मदद
  • पंजाब के फिरोजपुर में पराली के मुद्दे पर किसानों ने रोकी रेल
  • पराली जलाने पर दर्ज मामले वापस लेने की मांग
  • मांगें ना माने जाने पर पड़ा आंदोलन करने की चेतावनी
  • हरियाणा में भी रोक के बावजूद पराली जलाने के मामले
  • फतेहाबाद में सामने आए 18 मामले
  • पाबंदी ना मानने वाले किसानों पर सख्त कार्रवाई की तैयारी
  • पराली जलाने का दिल्ली की हवा में असर
  • दिल्ली में बढ़ा प्रदूषण का स्तर
  • 300 के पार पहुंचा एयर क्वालिटी इंडेक्स
  • राजस्थान के जयपुर में गहराया ज़ीका वायरस का संकट
  • सौ पहुंची मरीजों की संख्या
  • मच्छरों पर काबू पाने के उपाय तेज

From The Desk

दिल्ली में किसान नेताओं का प्रदर्शन


दिल्ली में अखिल भारतीय किसान सभा ने केंद्र सरकार की नीतियों के ख़िलाफ़ जोरदार प्रदर्शन किया। एक तरफ जहां देशभर में जेल भरो आंदोलन में हज़ारों किसानों ने गिरफ्तारी दी, वहीं दिल्ली में किसान नेताओं ने अपनी मांगों के लिए आवाज़ बुलंद की। किसानों की पूर्ण कर्ज माफी, सीटू फॉर्मूले के मुताबिक एमएसपी, और 60 साल से ज्यादा उम्र के किसानों और खेतिहर मजदूरों को हर महीने 5 हज़ार रुपए पेंशन जैसी मांगों को लेकर देशभर में जेल भरो आंदोलन की अपील की थी। संगठन का दावा है कि देश में चार सौ से ज्यादा जिलों में करीब बीस लाख किसान इस आंदोलन में शामिल हुए हैं। एआईकेएस के महासचिव हन्नान मोल्ला ने कहा कि, मौजूदा केंद्र सरकार की नीतियां किसान विरोधी हैं और एमएसपी पर सरकार का दावा झूठा है। किसान नेताओं ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और पूरी सरकार किसानों और आम जनता को गुमराह कर रही है। एआईकेएस को इस आंदोलन में दलित संगठनों और वन रैंक वन पैंशन की मांग कर रहे भूतपूर्व सैनिकों ने भी साथ देने का ऐलान किया है।