समाचार
  • मुख्यमंत्री अमरिंदर सिंह ने की प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से मुलाकात
  • पराली पर मुआवजा बढ़ाने के लिए केंद्र से मांगी आर्थिक मदद
  • पंजाब के फिरोजपुर में पराली के मुद्दे पर किसानों ने रोकी रेल
  • पराली जलाने पर दर्ज मामले वापस लेने की मांग
  • मांगें ना माने जाने पर पड़ा आंदोलन करने की चेतावनी
  • हरियाणा में भी रोक के बावजूद पराली जलाने के मामले
  • फतेहाबाद में सामने आए 18 मामले
  • पाबंदी ना मानने वाले किसानों पर सख्त कार्रवाई की तैयारी
  • पराली जलाने का दिल्ली की हवा में असर
  • दिल्ली में बढ़ा प्रदूषण का स्तर
  • 300 के पार पहुंचा एयर क्वालिटी इंडेक्स
  • राजस्थान के जयपुर में गहराया ज़ीका वायरस का संकट
  • सौ पहुंची मरीजों की संख्या
  • मच्छरों पर काबू पाने के उपाय तेज

From The Desk

मथुरा: क़र्ज़ के दबाव में किसान ने दी जान


उत्तर प्रदेश के मथुरा में एक और किसान ने कर्ज के दबाव में आत्महत्या कर ली। नावली गांव में किसान कुशल पाल ने अपने ही खेत में नीम के पेड़ से फांसी लगा कर जान दे दी। कर्ज के दबाव से परेशान कुशल सिंह ने कर्जमाफी की लिस्ट में अपना नाम ना होने से इतने निराश हुए कि मौत को ही गले लगा लिया। कुशल पाल ने साल 2008 में बैंक से दो लाख रुपए का कर्ज लिया था। इसके अलावा उनपर साहूकारों का भी क़र्ज़ था। क़र्ज़ चुकाने के लिए उन्होंने ज़मीन तक बेच दी लेकिन कर्ज़ चुकाने में नाकाम रहे। उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ क़र्ज़माफी योजना की सफलता का दावा रहे हैं लेकिन राज्य के बदहाल किसान आए दिन जान देने को मजबूर हैं।