From The Desk

मथुरा: क़र्ज़ के दबाव में किसान ने दी जान


उत्तर प्रदेश के मथुरा में एक और किसान ने कर्ज के दबाव में आत्महत्या कर ली। नावली गांव में किसान कुशल पाल ने अपने ही खेत में नीम के पेड़ से फांसी लगा कर जान दे दी। कर्ज के दबाव से परेशान कुशल सिंह ने कर्जमाफी की लिस्ट में अपना नाम ना होने से इतने निराश हुए कि मौत को ही गले लगा लिया। कुशल पाल ने साल 2008 में बैंक से दो लाख रुपए का कर्ज लिया था। इसके अलावा उनपर साहूकारों का भी क़र्ज़ था। क़र्ज़ चुकाने के लिए उन्होंने ज़मीन तक बेच दी लेकिन कर्ज़ चुकाने में नाकाम रहे। उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ क़र्ज़माफी योजना की सफलता का दावा रहे हैं लेकिन राज्य के बदहाल किसान आए दिन जान देने को मजबूर हैं।