समाचार
  • सुप्रीम कोर्ट ने आधार को संवैधानिक रूप से वैध करार दिया लेकिन बैंक अकाउंट और मोबाइल नंबर को आधार से जोड़ना जरूरी नहीं
  • स्कूल, कॉलेज में दाखिले के लिए आधार नंबर की मांग नहीं की जा सकती है
  • किसी भी बच्चे को आधार के बिना सरकारी योजनाओं का लाभ देने से इनकार नहीं किया जा सकता है
  • आयकर और पैन कार्ड के लिए अब भी जरूरी आधार

From The Desk

पतंजलि की डेयरी मार्केट में एंट्री, अमूल और मदर डेयरी को देगी टक्कर


रिटेल कारोबार में बड़ी-बड़ी मल्टीनेशनल कंपनियों को टक्कर दे चुके बाबा रामदेव की कंपनी पतंजलि आयुर्वेद ने अब डेयरी मार्केट में कदम रख दिया है। 40 रुपये लीटर गाय का दूध बेचकर रामदेव अमूल और मदर डेयरी जैसी कंपनियों को चुनौती देंगे। डेयरी के अलावा पतंजलि में मिनरल वाटर, फ्रोजन फूड और सोलर प्रोडक्ट भी लांच किए हैं। जल्द ही रामदेव रेडीमेड गारमेंट्स और सेनेटरी नैपकिन भी बाजार में उतारेंगे। पहले चरण में ये उत्पाद एनसीआर, हरियाणा, राजस्थान और महाराष्ट्र में उपलब्ध होंगे।

अपनी कारोबारी साम्राज्य का विस्तार करते जा रहे रामदेव ने दूध, दही, छाछ और पनीर के साथ डेयरी बाजार में हलचल मचा दी है। गुरुवार को उन्होंने दिल्ली के तालकटोरा स्टेडियम में बड़ी धूमधूमा से पांच नए सेगमेंट में प्रोडक्ट लांच करने का ऐलान किया। पंतजलि ने फ्रोजेन वेजिटेबल सेगमेंट में मटर, मिक्‍स वेज, स्‍वीट कॉर्न और फिंगर आलू बेचने शुरू किए।

इस मौके पर रामदेव ने बताया कि वे बीकानेर और शेखावटी इलाकों से दूध इकट्ठा करेंगे। इससे हजारों लोगों को रोजगार मिलेगा और लोगों को गाय का दूध सिर्फ 40 रुपये लीटर के सस्ते दाम पर मिलेगा। जो बाकी कंपनियों के दूध से दो रुपये सस्ता है। दूध के लिए पतंजिल के संग्रह केंद्र स्थापित किए गए हैं जिससे हजारों किसानों को जोड़ा गया है। फिलहाल चार लाख लीटर दूध बेचने का लक्ष्य रखा गया है।

पतंजलि को उम्मीद है कि 2020 तक वह इस कैटेगरी में करीब 1,000 करोड़ रुपये की कमाई करेगी। कंपनी ने इसी वित्त वर्ष में डेयरी प्रॉडक्ट्स के जरिए 500 करोड़ रुपये के राजस्व का लक्ष्य रखा है। दिल्ली-एनसीआर, मुंबई, पुणे और राजस्थान में दूध की आपूर्ति के लिए 56 हजार रिटेलर्स और वेंडर्स के साथ करार किया है। कंपनी जल्द ही फ्लेवर्ड मिल्क भी लॉन्च करेगी।

डेयरी प्रोडक्ट्स के अलावा रामदेव की कंपनी ने दिव्य जल नाम से बोतलबंद पानी भी लांच किया है। उनका दावा है कि पतंजलि के सस्ते और शुद्ध उत्पाद बड़ी-बड़ी कंपनियों को शीर्षासन करा देंगे। रामदेव ने कहा कि दिवाली से पतंजलि के कपड़े और जूतों भी बाजार में उपलब्ध होंगे। इसके अलावा महिलाओं के लिए सेनेटरी नैपकिन भी लांच करने की तैयारी है जिसका दाम ऐसा रखा जाएगा, जिससे गरीब महिलाएं भी इसका लाभ ले सकें।

जनता महंगाई से त्रस्त

अपने उत्पाद लांच करते हुए रामदेव ने माना कि जनता महंगाई से परेशान है। उन्होंने कहा कि वे भगवान से प्रार्थना करेंगे कि महंगाई का विघ्न मोदी जी और जेटली जी खत्म करें। कालाधन लूटने वालों को जल्द से जल्द भारत लाया जाए।