समाचार उत्तर प्रदेश के शाहजहांपुर में प्रधानमंत्री की किसान कल्याण रैली| गन्ना किसानों के लिए सरकार ने बड़ा फैसला लिया- पीएम| लागत से लगभग पौने दो गुना बढ़ाया गन्ना का एफआरपी- पीएम| खरीफ़ की फ़सल की एमएसपी में ऐतिहासिक बढ़ोतरी- पीएम| गांव और किसान सरकार की प्राथमिकता- पीएम| उत्तर प्रदेश के बिजनौर में गन्ना किसानों का प्रदर्शन| बकाया भुगतान और चीनी मिल चालू कराने की मांग को लेकर प्रदर्शन| किसानों ने की बिजली की बढ़ी दरें वापस लेने और किसानों को पेंशन की मांग| संभल में 4 अगस्त को कई किसान संगठन जुटेंगे| स्वामीनाथन आयोग की सिफारिशों को लागू करने के लिए जुटेंगे किसान| पंजाब में नशे के ख़िलाफ़ किसान संगठन ने निकाला मार्च| किसान मजदूर मुलाजिम तालमेल संघर्ष कमेटी की अगुवाई में मार्च| 23 जुलाई को किसान मुरादाबाद मंडलायुक्त कार्यालय का घेराव करेंगे| 26 जुलाई से राष्ट्रीय किसान महासंघ की किसान जागरण यात्रा की शुरुआत| 26 जुलाई से 26 अगस्त तक चलेगी यात्रा| अनिश्चितकालीन हड़ताल पर देश भर के ट्रक ऑपरेटर्स| देश के कई हिस्सों में ट्रक ऑपरेटर्स यूनियन ने प्रदर्शन किया| जरूरी सामान की आवक पर असर, मंडियों में पसरा सन्नाटा| छत्तीसगढ़ में तेज हुई चुनावी राजनीति| अजीत जोगी ने किसानों से किया बड़ा वादा| धान की एमएसपी बढ़ाने और कर्ज़ माफ़ी का वादा किया| उत्तर प्रदेश के शाहजहांपुर में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की रैली| संभल में 4 अगस्त को कई किसान संगठन जुटेंगे| स्वामीनाथन आयोग की सिफारिशों को लागू करने के लिए जुटेंगे किसान| पंजाब में नशे के ख़िलाफ़ किसान संगठन ने निकाला मार्च| किसान मजदूर मुलाजिम तालमेल संघर्ष कमेटी की अगुवाई में मार्च| 23 जुलाई को किसान मुरादाबाद मंडलायुक्त कार्यालय का घेराव करेंगे| 26 जुलाई से राष्ट्रीय किसान महासंघ की किसान जागरण यात्रा की शुरुआत| 26 जुलाई से 26 अगस्त तक चलेगी यात्रा|

bailout package

गन्ना किसानों को राहत एक छलावा

केंद्र सरकार ने चीनी उद्योग के लिए 7,000 करोड़ रुपए के राहत पैकेज की घोषणा की है। लेकिन राष्ट्रीय किसान मज़दूर संगठन का आरोप है कि इसका फ़ायदा किसानों को नहीं बल्कि चीनी मिलों को होगा।
Read more


सरकार की मंशा पर तीखे सवाल

केंद्र सरकार ने हाल ही में चीनी उद्योग को सात हज़ार करोड़ रुपए की सहायता राशि दी, लेकिन किसान संगठन इसे नाकाफी मान रहे हैं। भारतीय किसान मज़दूर संगठन ने सरकार की मंशा पर कई सवाल उठाए। माहीबुल हक़ की रिपोर्ट।

Read more