समाचार
  • मुख्यमंत्री अमरिंदर सिंह ने की प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से मुलाकात
  • पराली पर मुआवजा बढ़ाने के लिए केंद्र से मांगी आर्थिक मदद
  • पंजाब के फिरोजपुर में पराली के मुद्दे पर किसानों ने रोकी रेल
  • पराली जलाने पर दर्ज मामले वापस लेने की मांग
  • मांगें ना माने जाने पर पड़ा आंदोलन करने की चेतावनी
  • हरियाणा में भी रोक के बावजूद पराली जलाने के मामले
  • फतेहाबाद में सामने आए 18 मामले
  • पाबंदी ना मानने वाले किसानों पर सख्त कार्रवाई की तैयारी
  • पराली जलाने का दिल्ली की हवा में असर
  • दिल्ली में बढ़ा प्रदूषण का स्तर
  • 300 के पार पहुंचा एयर क्वालिटी इंडेक्स
  • राजस्थान के जयपुर में गहराया ज़ीका वायरस का संकट
  • सौ पहुंची मरीजों की संख्या
  • मच्छरों पर काबू पाने के उपाय तेज

Simplify

प्रस्तावित यूनिवर्सल लेबर कोड से क्या बदलेगा?


संगठित क्षेत्र के साथ पहली बार असंगठित क्षेत्र के लोगों को सामाजिक सुरक्षा देने के इरादे से सरकार मौजूदा श्रम कानूनों में भारी बदलाव लाने की कोशिश में है। इसके लिए श्रम मंत्रालय ने ड्राफ्ट लेबर कोड तैयार किया है, मगर इस कोड को लेकर ट्रेड यूनियन समेत असंगठित क्षेत्र के लोग भी मायूस हैं। ड्राफ़्ट से लोग विरोध जता रहे हैं, आख़िर उनकी नाराज़गी का क्या कारण है ?

क्या कुछ है इस प्रस्तावित ड्राफ्ट लेबर कोड में, समझते है ‘SIMPLIFY’ में अनिका ऐरन के साथ।