समाचार
  • केरल में बाढ़ से भारी तबाही
  • 500 करोड़ रुपए की अतिरिक्त सहायता का ऐलान
  • मृतकों के परिजनों को 2 लाख और घायलों को 50 हज़ार रुपये का मुआवज़ा
  • केरल सरकार ने केंद्र से मांगी थी 2000 करोड़ रुपये की मदद
  • उत्तर प्रदेश: झांसी में आवारा जानवरों से परेशान किसान
  • फसल बर्बाद होने का सदमा नहीं झेल पाया किसान
  • दिल का दौरा पड़ने से किसान ने खेत में तोड़ा दम
  • महाराष्ट्र: पुणे में किसानों ने मौसम विभाग के ख़िलाफ़ शिकायत दर्ज कराई
  • मौसम विभाग पर ग़लत जानकारी देने का आरोप लगाया
  • स्वाभिमानी शेतकारी संगठन ने मौसम विभाग पर दर्ज कराया मामला
  • मध्य प्रदेश: बीना परियोजना के ख़िलाफ़ किसानों का प्रदर्शन
  • डूब प्रभावित इलाकों के किसानों का प्रदर्शन
  • किसानों ने रखी परियोजना को रद्द करने की मांग
  • हरियाणा: पराली जलाने से होने वाले प्रदूषण को रोकने की पहल
  • चौधरी चरण सिंह कृषि विश्वविद्यालय को मिले चार करोड़ रुपये
  • भारतीय कृषि अनुसंधान परिषद ने दी आर्थिक सहायता

Simplify

#Simplify में Ayushman Bharat


मोदी सरकार ने बजट 2018-19 में दुनिया की सबसे बड़ी Health Insurance Scheme शुरु करने का ऐलान किया है। 10 करोड़ ग़रीब
परिवारों को फ़ायदा पहुंचाने वाली ये स्कीम 15 अगस्त या 2 अक्टूबर से लागू होगी। सेहत पर होने वाले खर्चे के कारण कितने ही ग़रीब परिवार क़र्ज़ के तले दब जाते हैं। जब ये स्कीम शुरु होगी तो क्या ये देश की ग़रीब जनता को उनके लम्बे चौड़े मेडिकल बिलों से राहत दिला सकेगी? क्या ये स्कीम इस तबके को होने वाली खास बीमारियों का ख्याल रखेगी? क्या हैं वो बीमारियां? नई स्कीम के इन पहलुओं पर रोशनी डालने की कोशिश की है, #Simplify के ताज़ा अंक में। अनिका ऐरन समझाएंगी कि ये क्यों ज़रूरी है कि स्कीम की बारीकियों पर अभी से बात हो, ताकि सरकार इस स्कीम को शुरू करने से पहले इन मुद्दों पर ध्यान दे और उन्हें अपनी योजना में शामिल करे ।