Report

प्रचार तक सिमटे स्वच्छता और विकास के नारे


केंद्र सरकार गांवों के विकास के लिए तमाम योजनाएं चला रही है। लेकिन जमीनी हकीकत ये है कि केंद्रीय मंत्री का गांव ही बदहाली का शिकार है। स्वस्छता के नारे दीवारों तक सिमटे हैं तो सड़कों दलदल बनी हुई हैं। उत्तर प्रदेश के हमीरपुर से विनीत तिवारी की रिपोर्ट।