Debate

संघर्ष का संगम


किसान, दलित और पूर्व सैनिकों के आंदोलन अब एक मंच पर आ रहे हैं। अखिल भारतीय किसान सभा ने 9 अगस्त को भारत बंद की अपील की है। दूसरे किसान संगठन उसे समर्थन देने का एलान पहले ही कह चुके हैं। अब दलित और पूर्व सैनिकों के संगठनों ने किसान संगठनों के साथ मिलकर आंदोलन चलाने का एलान किया है। एससी-एसटी ऐक्ट को कमज़ोर करने और दलितों पर अत्याचार के ख़िलाफ मुहिम चला रहे दलित संगठन और ‘वन रैंक-वन पेंशन’ की मांग के समर्थन में आंदोलन चला रहे पूर्व सैनिकों के संगठन 9 अगस्त के ‘भारत बंद’ में शामिल होंगे। इन सबकी एक जैसी शिकायत है कि नरेंद्र मोदी सरकार ने उनका विश्वास तोड़ा है। तो आंदोलनों के इस संगम का संदेश क्या है? क्या इससे किसान, जवान और आम इनसान की गरिमा की लड़ाई के लिए कोई नया रास्ता निकलेगा? इन सवालों पर ये ख़ास चर्चा।