Conversation

आगे का रास्ता


दिल्ली में पांच सितंबर प्रभावशाली मज़दूर-किसान संघर्ष रैली हुई। इसके आयोजकों में अखिल भारतीय किसान सभा, सीटू और ऑल इंडिया एग्रीकल्चरल वर्कर्स यूनियन शामिल थे। इसके पहले अखिल भारतीय किसान सभा ने पिछले मार्च महीने में मुंबई में बहुचर्चित लॉन्ग मार्च का आयोजन किया था। दिल्ली रैली को उसका अगला चरण बताया गया। इस रैली से क्या हासिल हुआ? अब आगे का रास्ता किधर है? किसान संगठनों का अगला एजेंडा क्या है? इन सवालों पर देखिए अखिल भारतीय किसान सभा के अध्यक्ष अशोक धावले से ये ख़ास बातचीत।